दिव्यकीर्ति सम्पादक-दीपक पाण्डेय, समाचार सम्पादक-विनय मिश्रा, मप्र के सभी जिलों में सम्वाददाता की आवश्यकता है। हमसे जुडने के लिए सम्पर्क करें….. नम्बर-7000181525,7000189640 या लाग इन करें www.divyakirti.com ,
7k Network

होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.
7k Network

वाह! रे,’बारे’बाप नम्बरी बेटा दस नम्बरी

दिन रात टूट रहे यहाँ-वहाँ डोंगरियो के पत्थर

शहडोल।।गोहपारू

शहडोल जिले की धरा खनिजों की प्रचुर उपलब्धता के लिए न सिर्फ सम्भाग अपितु पूरे प्रदेश में ख्याति प्राप्त है इस दिशा में जिला न सिर्फ खनिज की अधिकांश मात्रता अपितु खनिज के दोहन में अव्वल अंक अर्जित कर चुका है और उत्खनन माँमले में प्रदेश में नम्बर1-2 की कतार में भी रहा है यहाँ खनिज और उसकी कार्यप्रणाली पर सवाल न ही किए जाएं तो बेहतर है जिले में आने वाला खनिज अधिकारी मानो उपर से मोती दान करके इस जिले में नियुक्ति लेता है और मोती को सीप में पिरोकर यहाँ से निकल लेता है।

जिले से मात्र 20 किमी की दूरी पर गोहपारू थाना क्षेत्र अन्तर्गत दर्जन भर क्रेशर हैं उनके मानक पैमाने के बारे में हमे ज्यादा कलम घिसने की आवश्यकता नही है यह काम खनिज के आला अधिकारी समय-समय पर करके अपना मासिक जुगाड़ जामए रहते हैं।सड़क और सड़क के अंदर लगे क्रेशरों के पास न ही खदान हैं और न ही उनके पास सालाना रॉयल्टी का हिसाब होता है । इसी तारतम्य में गोहपारू-चुहिरी रोड में लगे क्रेशर का है जहाँ बारे और उसके पुत्र वाह! रे की तर्ज पर पत्थर तोड़ने और क्रेशर में खपाने का काला कारनामा न दिनरात कर रहे हैं इस पूरे कारनामें को न ही पुलिस विभाग देखती है और न ही जिले में बैठे खनिज।
जानकार बताते हैं कि पहले यह काम बारे किया करता था किंतु यह सनातन चलन है कि पिता का उत्तराधिकारी पुत्र ही होता है उस हिसाब से अब बारे का पुत्र इस कारनामे को वाह! रे कर रहा है। इस क्रेशर के पास दर्जनों ऐसे पैमाने हैं जो खनिज के विपरीत हैं फिर भी यह क्रेशर खनिज के कागजों में चल रहा है।सूत्र बताते हैं कि आसपास के क्षेत्र से सँटे डोंगरियो और पहाड़ियों में दिहाड़ी मजदूर लगाकर क्रेशर के पत्थर की तुड़ाई की जाती है और उन्हें 5-6सौ रु के हिसाब से फिर बारे और उसका पुत्र खरीदते हैं यही नही बारे का यह पुत्र अपने इस करतूत को छिपाने व उसमें पर्दा डालने के लिए अड़ियल रवैया भी अख्तियार करता है।
खैर इसमें बारे और खनिज का कोई द्वेष नही उसका पुत्र ही है वाह!रे। है।

इनका कहना है।

आपके के द्वारा मामला संज्ञान में आया मैं कार्यवाही करवाता हूं

विनय सिंह गहरवार

गोहपारू थाना प्रभारी

Divya Kirti
Author: Divya Kirti

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!