दिव्यकीर्ति सम्पादक-दीपक पाण्डेय, समाचार सम्पादक-विनय मिश्रा, मप्र के सभी जिलों में सम्वाददाता की आवश्यकता है। हमसे जुडने के लिए सम्पर्क करें….. नम्बर-7000181525,7000189640 या लाग इन करें www.divyakirti.com ,
7k Network

होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.
7k Network

पीएम के आने की है तैयारी और यहाँ ग्रामीण कर रहे त्राहि-त्राहि

भाजपा विधायक व मंत्रियों का पत्र भी हुआ बेअसर

इंजीनियर की तानाशाही चरम पर

कमीशन और ठेकेदारी का जुगाड़

केंद्र से लेकर राज्य तक भाजपा सरकार की काबिज है बावजूद उसके प्रभारी मंत्री और विधायक को लिखी चिट्ठी बेअसर नजर आ रहा है।इंजीनियर की मनमानी व तानाशाही इस चरम पर है कि सरपँच नही बल्कि सरपँच संघ और पंचों ने कथित इंजीनियर के खिलाफ बगावत का मोर्चा खोल रखा है और सम्बंधित सीईओ अभी तक उक्त इंजीनियर के करतूतों पर ध्यानाकर्षित नही कर रहे हैं।

शहडोल।।जयसिंहनगर

प्रार्थी गणों ने लिखा है कि मुख्य कार्यपालन अधिकारी शहडोल को अवगत कराया है कि
प्रभारी मंत्री महोदय एवं मंत्री पिछडावर्ग एवं अल्प संख्यक कल्याण (स्वतंत्र प्रभार) विमुक्त घुम्मकड़ एवं अर्ध घुम्मकड जनजातीय कल्याण म.प्र. शासन विधायक विधानसभा जयसिंहनगर क्षेत्र क 945/2023/ दिनांक 17.06.2023 के संबंध में। 84 का पत्र क 3 ग्राम पंचायत ढोलर जनपद पंचायत जयसिंहनगर के पत्र में इंजिनियर अपने कार्यो के प्रति उदासीन हैं बावजूद उसके अब तक उनके निरंकुशता पर लगाम नही लगाया गया है ।

प्रभारी मंत्री व विधायक का पत्र भी बेअसर

विषयांतर्गत के सबंध में सन्दर्भित पत्रों के माध्यम से प्रभारी मंत्री विधायक महोदय विधानसभा क्षेत्र जयसिंहनगर एवं ग्राम पंचायत ढोलर जनपद पंचायत जयसिंहनगर के साथ पूर्व में सेक्टर कौआसरई के समस्त ग्राम पंचायत के सरपंचों के साथ सरंपच संघ जनपद पंचायत जयसिंहनगर द्वारा लिखित रूप में पत्र के माध्यम से अवगत कराया गया है कि आदित्य कुमार द्विवेदी, सेक्टर उपयंत्री सेक्टर कौआसरई द्वारा अपने मुख्यालय में न रहकर शहडोल से आना-जाना करते है एवं अपने सेक्टर ग्राम पंचायतों में भ्रमण कर समय पर प्राक्कलन तैयार कर तकनीकी स्वीकृति जारी नही कराई जाती तथा कार्यों के समय पर मूल्यांकन कर कार्य पूर्णता भी जारी नही की जाती है, जिससे श्रमिको एवं कियान्वयन एजेन्सी का ग्राम पंचायत के निर्माण एवं विकास कार्यों में रूचि नही रही एवं विलंभ से मूल्यांकन होने के कारण सामग्री प्रदायदाता भी ग्राम पंचायतों को विलब से भुगतान होने के कारण सामग्री प्रदाय नही करते है।

इंजीनियर की आड़ में ठेकेदारी प्रथा

शिकायत पत्र में लिखा है कि आदित्य द्विवेदी द्वारा ठेकेदारी करने के साथ 10 से 15 प्रतिशत कमीशन की माँग किये जाने एवं माप पुस्तिका स्वयं दर्ज न कर किसी अन्य अनाधिकृत व्यक्ति से किये जाने के साथ ग्राम पंचायतों के सरपंच, सचिव ग्राम रोजगार सहायक जनप्रतिनिधियों का फोन रिसीव नही करने के साथ आये दिन लोगो के साथ दुर्यव्यवहार करने के शिकायते की गई है। जिसके सबंध में आदित्य द्विवेदी को पूर्व में भी कार्य प्रणाली में सुधार लाने के निर्देश दिये गये थे परंतु लगातार निर्देशों के बावजूद भी आदित्य द्विवेदी के कार्य प्रणाली में कोई सुधार परिलक्षित नही हो रहा है।

Divya Kirti
Author: Divya Kirti

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!