दिव्यकीर्ति सम्पादक-दीपक पाण्डेय, समाचार सम्पादक-विनय मिश्रा, मप्र के सभी जिलों में सम्वाददाता की आवश्यकता है। हमसे जुडने के लिए सम्पर्क करें….. नम्बर-7000181525,7000189640 या लाग इन करें www.divyakirti.com ,
7k Network

होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.
7k Network

अग्रवाल रत्न से सम्मानित होने वाली सबसे कम उम्र की पहली महिला बनीं- पायल लाठ     

दीन दुखियों के लिए बनाया पायल एक नया सवेरा फाउंडेशन और उसमें समर्पित हो गईं पायल लाठ 

बिलासपुर, छत्तीसगढ़।। अग्रवाल समाज के तत्वावधान में श्रीकांत वर्मा मार्ग स्थित कुंदन पैलेस में महाराज अग्रसेन की जयंती मनाई गई। कार्यक्रम में महाराज अग्रसेन को सवामनी भोग लगाया गया। इस दौरान अतिथियों द्वारा समाज के विभिन्न वर्गों में कार्य करने वाले लोगों को सम्मानित किया गया। अग्रवाल समाज द्वारा आयोजित कार्यक्रम में पायल एक नया सवेरा फाउंडेशन की फाउंडर पायल लाठ को अग्रवाल रत्न से सम्मानित किया गया। बता दें की सबसे कम उम्र में अग्रवाल रत्न पाने वाली पायल समाज की पहली महिला हैं। सम्मान पाने के बाद पायल ने कहा कि मैं बहुत खुश हूं कि इतने प्रतिष्ठित अग्रवाल समाज में मेरा जन्म हुआ, जहां महिलाओं को प्रोत्साहित किया जा रहा है कि वे समाज के लिए आगे आकर काम कर रही हैं । मै इसका श्रेय दादाजी भगवती प्रसाद बजाज को देती हूं जिनको मैंने बचपन से गरीब बच्चों को शिक्षित करते हुए देखा है। अपने स्वर्गीय पापा विजय कुमार बजाज, भाईयों विकास व विशाल और बहन पूजा कन्दोई को देती हूं जिन्होंने मुझे हमेशा एक बेटी नही बेटे के रूप में बड़ा किया निडर बनाया और हमेशा प्रोत्साहित करते रहे आगे बढ़ाने के लिए। वे मेरी ताकत बनकर मेरे मुश्किल समय में मेरे साथ खड़े रहे और मुझे प्रोत्साहित करते रहे।

हर स्थिति में आगे बढ़ने के लिए हमेशा मेरा हौसला बढ़ाया। समाजसेवा में मेरे पति शब्द प्रकाश लाठ और बच्चे तविश और राजवीर हमेशा मुझे हौसला दिलाते रहते हैं। उन्होने अपने सम्मान के लिए अग्रवाल महासभा के अध्यक्ष, नवयुवक समिति के अध्यक्ष, महिला समिति की अध्यक्ष उमा छापरिया एवं समस्त कमेटी के मेंबर के प्रति आभार प्रकट किया है। पायल लाठ एक अरसे से बिलासपुर में समाजसेवा में समर्पित हैं। कई गरीब बच्चों को वे स्कूल में एडमिशन दिलाकर उनकी पढ़ाई का सारा खर्च वहन कर रही हैं। जरूरतमन्दों को ई रिक्शा और महिलाओं को सिलाई मशीन देकर आजीविका चलाने में मदद कर रही हैं।

Divya Kirti
Author: Divya Kirti

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!