दिव्यकीर्ति सम्पादक-दीपक पाण्डेय, समाचार सम्पादक-विनय मिश्रा, मप्र के सभी जिलों में सम्वाददाता की आवश्यकता है। हमसे जुडने के लिए सम्पर्क करें….. नम्बर-7000181525,7000189640 या लाग इन करें www.divyakirti.com ,
7k Network

होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.
7k Network

शासकीय तालाब को काटकर बना दिया पार्किंग

 

सूदखोर ने काट दिया तालाब का मेढ़
बुढार।।सरईकापा

सरकार पर्यारण संरक्षण व प्राकृतिक संसाधनों के दोहन रोकने के लिए अथक प्रयास कर दर्जनों योजनाओं का धरातल पर क्रियान्वन कर रही है विशेषकर जल,पृथ्वी,भू संरक्षण के लिए विश्व स्तर पर सम्मेलन व ग्राम पंचायतों में रोजगार की दृष्टि से मेढ़ तालाब,लघु तालाब,मीनाक्षी तालाब बनाने के लिए ग्राम पंचायत में विशेष मद रखती है। ऐसा ही एक माँमला ग्राम पंचायत सरईकापा मुख्यमार्ग में देखने को मिला है जहाँ निजी लाभ के लिए ग्राम पंचायत के तालाब के मेढ़ को काट दिया है और मैरिज हाल के लिए की पार्किंग व्यवस्था बनाई जा रही है।
ग्राम पंचायत सरईकापा मुख्यमार्ग में विगत कई वर्षों से एक तालाब स्थित है जिसका समय-समय पर ग्राम पंचायत रख-रखाव करती है यही नही अत्येन्ष्टि क्रिया के दौरान यहाँ ग्राम व आसपास के लोग स्नान-ध्यान भी करते हैं गर्मियों में पशु- पक्षी तालाब के जल से अपना प्यास भी बुझाते हैं इसी तालाब के सामने अभी हाल में कोई धनपुरी निवासी सेलिब्रेशन सिटी मैरिज हाल बनाया है जिसके पास न ही मैरिज हाल के सामने उचित पार्किंग व्यवस्था नही है इस पार्किंग व्यवस्था को और मजबूत बनाने के लिए संचालक द्वारा हाल के उस पर स्थित तालाब के मेढ़ को काट दिया है ताकि मैरिज हाल की शोभा बढाई जा सकी ।

जल सम्मेलन पर सँयुक्त राष्ट्र संघ की बैठक व प्लान….
अभी हाल में संयुक्त राष्ट्र ने न्यूयॉर्क में 22-24 मार्च तक 46 वर्षों में अपना पहला जल सम्मेलन आयोजित किया।
संयुक्त राष्ट्र का मानना है कि हम सतत् विकास लक्ष्य संख्या 6 को पूरा करने के लिये पर्याप्त रूप से प्रतिबद्ध नहीं हैं, जिसका लक्ष्य वर्ष 2030 तक सभी के लिये स्वच्छ जल और स्वच्छता प्रदान करना है।
“सतत् विकास के लिये जल 2018-2028” रिपोर्ट के अनुसार, कार्रवाई की तत्काल आवश्यकता को देखते हुए इस पर बल दिया गया है।
जल सम्मेलन वैश्विक जल संबंधी चुनौतियों को हल करने के लिये एक साथ काम करने हेतु विभिन्न देशों और संगठनों के लोगों को एकजुट करता है। जल की समस्या आमतौर पर स्थानीय होती है लेकिन साथ मिलकर काम करने से विभिन्न देश एक-दूसरे की मदद कर सकते हैं, तकनीकें साझा कर सकते हैं और समाधान निकाल सकते हैं।

किन्तु  मैरिज हाल संचालक को इस सम्मेलन और बैठक से कोई सरोकार नही।

 

इनका कहना है…

(आपका काम छापना है जो छापना है छापो, कालू जसवानी)

(हमारे द्वारा ग्राम पंचायत से किसी प्रकार की कोई अनुमति नही दी गई है रही बात शासकीय तालाब से छेड़छाड़ की अनुमति हम कैसे दे सकते हैं, रोजगार सहायक संजीव मिश्रा)

(मैं ग्राम पंचायत द्वारा शिकायत पत्र बनाकर शिकायत करता हूँ ताकि भविष्य में इसकी पुनरावृत्ति न हो,ग्राम पंचायत सरपंच)

(यह कृत्य अनुचित है एक ओर शासन भू व सतही जल संरक्षण के लिए कई उपाय किए जा रहे हैं किंतु प्राकृतिक जल ह्रास कहीं न कहीं शासन के दिशा निर्देशों का उल्लंघन है,अवधेश पांडे पर्यावरण विद व सामाजिक

Divya Kirti
Author: Divya Kirti

ये भी पढ़ें...

7k Network
error: Content is protected !!