दिव्यकीर्ति सम्पादक-दीपक पाण्डेय, समाचार सम्पादक-विनय मिश्रा, मप्र के सभी जिलों में सम्वाददाता की आवश्यकता है। हमसे जुडने के लिए सम्पर्क करें….. नम्बर-7000181525,7000189640 या लाग इन करें www.divyakirti.com ,
7k Network

होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.
7k Network

शासकीय भूमि को भूमाफिया कर रहे छिन्न-भिन्न,चुनिंदा लोगों के नाम से चलता है तहसील

 

शासकीय भूमि को भूमाफिया कर रहे छिन्न-भिन्न,चुनिंदा लोगों के नाम से चलता है तहसील
बुढार।।
यूं तो शासकीय आराजी खसरा में सिर्फ शासन का अधिकार होता है यानी वह भूमि सिर्फ शासकीय कार्यो के लिए बनी होती है और उनमें सिर्फ सरकार ही अपने निर्माण कार्य कर उसमें शासन की योजनाओं को क्रियान्वित कर सकती है किंतु बुढार क्षेत्र शासकीय जमीन बेचने और बिकवाने के लिए जग प्रसिद्ध है। इन दिनों बुढार में नया भूमाफिया तैयार हुआ जो शहर के हर कोने में जमीनो को खरीदकर आम इंसानों को बरगलाता है और उन्हें महज थोड़ा बहुत रकम देकर आगे पीछे घुमाता रहता है।इतना ही नही यह भूमाफिया शासकीय जमीनों को भी खुर्द-बुर्द करके यहाँ-का रकवा वहाँ करवा दिया है इस पूरे खेल में तहसील में अरसों से पदस्थ जीवेंद्र की भूमिका भी संदिग्ध है।हर सड़क का किनारा इस भूमाफिया ने अपने नाम कर लिया है या फिर उसे अपने किसी खास के नाम कराकर बेंच रहा है यही नही इस सड़क किनारे लगे शासकीय जमीनों में भी इस जयचंद ने अपने नाम का मुहर लगा दिया है इसमें तहसील के तमाम जिम्मेदारों की भूमिका संदिग्ध न हो ऐसा तो हो नही सकता अगर 58-59 के रिकार्ड खंगाले जाएं तो यह ज्ञात हो जाएगा कि निचले स्तर के पटवारी,आरआई,तहसीलदार ने इस छोटू को कितना बड़ा बना दिया है।

Divya Kirti
Author: Divya Kirti

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!