दिव्यकीर्ति सम्पादक-दीपक पाण्डेय, समाचार सम्पादक-विनय मिश्रा, मप्र के सभी जिलों में सम्वाददाता की आवश्यकता है। हमसे जुडने के लिए सम्पर्क करें….. नम्बर-7000181525,7000189640 या लाग इन करें www.divyakirti.com ,
7k Network

होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.
7k Network

आभावों के बाद भी आस्था का केंद्र बना “शिव” का यह मंदिर

आज महाशिवरात्रि का पर्व

सिद्ध बाबा डोंगरिया में 8मार्च दिवसीय मेला

– अभावों, असुविधाओं के बावजूद आस्था का केन्द्र बना सिद्धबाबा मंदिर मंदिर स्थल में – पेयजल, सेड, व बैठने तक की व्यवस्था आज तक नहीं बनी

अमलाई। नगर के वार्ड नंबर 5 में स्थित सिद्ध बाबा मंदिर डोंगरिया ( ऊंंची पहाड़ी) में भोलेनाथ की मूर्ति स्थापित की गई है जो आस्था का केंद्र बिंदु बनी हुई है। सिद्धनाथ मंदिर डोंगरिया प्रांगण में दिन शुक्रवार को 8- मार्च 2024 महाशिवरात्रि पर्व पर पिछले करीब 40 वर्षों से मेला का आयोजन किया किया जा रहा है, जहां भारी संख्या में आसपास के महिलाएं पुरुष बच्चे मेले में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते और और तरह-तरह के खिलौनों का आनंद उठाते हैं।प्राकृतिक सौंदर्य एवं अंचल की छबि लिए बरगवां मार्ग पर पहाड़ो पर बने सिद्धनाथ बाबा मंदिर डोगरिया महाशिवरात्रि मेले के लिए प्रसिद्ध है लगभग 40 वर्ष से यहां पर अनवरत मेला लग रहा है। उक्त सिद्धनाथ मंदिर पहाड में पहुंचने के लिए सीढ़ी चढ़ कर भक्तजन पहुंचते हैं। मन्दिर जहां भगवान शिवलिंग जी के दर्शन होते है ।

विकास के नाम पर रोना

सिद्धनाथ बाबा मन्दिर डोगरिया के निवासियों ने बताया कि मेले का आयोजन किया जाता है लेकिन मेले में हजारों की संख्या में भक्तजन आस्था का केंद्र बिंदु सिद्धबाबा मंदिर पूरे आस्था के साथ अपनी मुराद माथा टेकने पहुंचते हैं लेकिन आज भी नगर परिषद के द्वारा विकास के नाम पर कुछ नहीं किया गया। श्रद्धालु जब सीढ़ी चढ़ सिद्धबाबा का दर्शन करने के पश्चात ऊपर बैठने के लिए सोचते हैं लेकिन यहां पर ऐसी कोई व्यवस्था नहीं है ना कोई बैठने के लिए सेट की व्यवस्था बनाई गई ना पानी की व्यवस्था ना लाइट की व्यवस्था आज तक नहीं की गई। जिसके चलते श्रद्धालु जनों को शीघ्र नीचे आना पड़ता है।

नगर प्रशासन से अपेक्षा

महाशिवरात्रि पर्व पर मेले में देखा गया कि हजारों की संख्या में बच्चे बूढ़े महिलाएं दर्शन करने हेतु ऊपर पहुंचकर दर्शन लाभ लिया लेकिन सुकून के कुछ पल बैठने की व्यवस्था होती तो श्रद्धालु बैठ कर सकून के कुछ पल गुजार लेते लेकिन ऐसी कोई व्यवस्था नहीं बनाई गई जो ऊपर पहुंचने पर 2 मिनट के लिए भी कहीं बैठकर विश्राम थकान दूर किया जा सके। अगर अच्छी व्यवस्था बनाई गई होती तो नगर के आसपास लोगों के लिए एक पिकनिक स्थल का रूप भी ले लेती नगर वासियों ने नगरपालिका से अच्छी व्यवस्था की मांग की जा रही है ।

सुबह से मंदिरों में गूंजेंगे घंटी घड़ियाल

महाशिवरात्रि का पावन पर्व शुक्रवार 8 मार्च को कोयलांचल क्षेत्र सहित अमलाई में आस्था और उल्लास के साथ शिवरात्रि का पर्व नाया जाएगा। श्री शिव मंदिर इंदिरा नगर, शिव मंदिर नंबर 7, कृष्णा राइस मिल में भोलेनाथ की पूजा भंडारे का आयोजन, नगर कई घरों में स्थित मंदिरो पर पूजा अर्चना हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी सुबह से ही मंदिरों में भक्ति भाव के साथ भगवान भोलेनाथ और मां गौरी की पूजा में भक्त कोई कमी नहीं रखना चाहते। शिव मंदिर पहुंचे भक्तों ने भोलेनाथ का प्रिय बेलपत्र, सफेद फूल, पेड़ों पर आई नई बौर, बेल व गेहूं की बाली सहित दूध, दही आदि से विधि-विधान के साथ शिवलिंग में स्नान कराकर पूजा-अर्चना करते महाशिवरात्रि बनाएंगे।

Divya Kirti
Author: Divya Kirti

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!