दिव्यकीर्ति सम्पादक-दीपक पाण्डेय, समाचार सम्पादक-विनय मिश्रा, मप्र के सभी जिलों में सम्वाददाता की आवश्यकता है। हमसे जुडने के लिए सम्पर्क करें….. नम्बर-7000181525,7000189640 या लाग इन करें www.divyakirti.com ,
7k Network

होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

कोरेक्स के नशे में डूबता शहर की युवा पीढी

 

 

कब तक होता रहेगा यह व्यापार

यहाँ स्मैक और पावडर की बिक्री भी जोरों पर

गांजे की पुड़िया हर कोने पर उपलब्ध

शहडोल।।बुढार

विनय मिश्रा की रिपोर्ट….

नशे के खिलाफ जिले में तमाम मुहिम चलाई गई किंतु यह मुहिम आज भी बेलगाम घोड़े की तरह दौड़ रहा है अलग-अलग समय मे इस नशीली दवा और इंजेक्शन का जिम्मा अलग-अलग ठीहों में अलग-अलग लोगों ने उठाया हलाकि स्थानीय थाने और सम्बंधित जिम्मेदारों की इसमें क्या भूमिका है हम नही कह सकते किन्तु आज भी इस कारोबार पर पूर्णतः लगाम नही लग पाया है। हमारे सूत्रों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि बुढार में कोई अंकित नाम का तो कटकोना के इर्दगिर्द सुमित नामक व्यक्ति ने बकयादे इस कारोबार को अंजाम दे रखा है। सस्ती और मुह से गन्ध न आने के कारण इस नशे के शौकीन युवा पीढ़ी इसलिए भी हैं कि इससे नशा भी हो जाता है और मुह से गन्ध भी नही आता ताकि उन बच्चों के मा-बाप के पास भी अपने बच्चे के उत्तम चरित्र होने का सर्टिफिकेट बना रहे। बीते कुछ वर्ष पूर्व में नशे के इस दुष्प्रभाव का एक शासकीय रिपोर्ट यह है कि इंजेक्शन और अन्य प्रकार का नशा करने वाले कम से कम 60 के आसपास ऐसे युवा व अधेड़ हैं जो HIV के शिकार हैं और उनका एक शासकीय डाटा भी बुढार चिकित्सालय में मौजूद हैं।
समय समय पर पुलिस की कार्यवाही नशे के इस खेप के खिलाफ हुए तो जरूर हैं पर उन पर आज तक पूर्ण विराम नही लग पाया।

Divya Kirti
Author: Divya Kirti

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!