दिव्यकीर्ति सम्पादक-दीपक पाण्डेय, समाचार सम्पादक-विनय मिश्रा, मप्र के सभी जिलों में सम्वाददाता की आवश्यकता है। हमसे जुडने के लिए सम्पर्क करें….. नम्बर-7000181525,7000189640 या लाग इन करें www.divyakirti.com ,
7k Network

होम

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

साबजी! आप कहाँ हैं थाने में या थाने से बाहर

 

 

यहाँ पूरे शहर में ‘नशा’ खाने की तरह बिक रहा है
बुढार।।

अगर कोरेक्स,नाइट्राबेट,इंजेक्शन जैसे मेडिकल नशे की बात की जाए तो कोयलांचल इसका पितामह कहलाता है।
बुढार-धनपुरी में बन्द हुआ यह नशा अब फिर दबे पाँव पैर पसार रहा हैं वो और बात है कि इसकी भनक सम्बंधित वर्दीधारियों को नही है या फिर सब कुछ जानकर भी अंजान हैं का खेल चल रहा है।बीते कुछ माहों से बुढार धनपुरी में कोरेक्स का खेप बड़े पैमाने पर इस शहर में खपाया जा रहा है किंतु पुलिसिया तंत्र इन तक पहुँच पाने में अभी नाकाम है।
नए नए युवक जिनकी उम्र 18 या उससे कम है नशे की चाह में ऐसे नशे को ढूंढ रहे हैं ताकि आहिस्ता नशा भी हो जाए और उनके अभिवभावकों को भनक भी न लगे धीरे-धीरे इस लत के कारण वही युवक इसे पीने की चाह में बेचने लगते हैं और किसी बड़े वारदात को जन्म देते हैं।दिनरात मोटरसाइकिल में बैठकर जेबों और थैलियों में भरकर कोरेक्स की शीशियाँ बेंची जा रही है दिनोदिन इस नशे का नशेड़ियों का तादाद भी काफी संख्या में हो चुका है।यही नही इंजेक्शन जैसे नशे के आदि ‘एड्स’जैसी बीमारियों से भी संक्रमित हैं किंतु समाज और भय के कारण किसी से जिक्र नही कर पाते।शासकीय आंकड़े उठाएँ तो नशे के इन लती लोगों में 50 से ऊपर ऐसे लोग हैं जो ‘एड्स’ पीड़ित हैं।किन्तु समाज में नशा मुक्ति का दम्भ भरने वाले सरकार के नुमाइंदे इस पर अंकुश लगा पाने में अभी भी कोसों दूर है।

इनका कहना है….

फोन लगाने पर फोन नही उठा,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहडोल

 

Divya Kirti
Author: Divya Kirti

ये भी पढ़ें...

error: Content is protected !!